Showing posts with label Travel. Show all posts
Showing posts with label Travel. Show all posts

Monday, December 10, 2018

Best 5 Tourist Place For Honeymoon In India In Hindi

हनीमून के लिए भारत के 5 बेहतरीन पर्यटक स्थल:

 क्या सोच रहे हो जनाब ? शादी के बन्धन में तो बंध गए और अब हनीमून के लिए नहीं सोच रहे हैं क्या ? अच्छा ! तो आपको समझ में यह नहीं आ रहा है कि कहाँ जाएँ और कहाँ नहीं ,तो लीजिए हम आपकी समस्या का समाधान चुटकियों में कर देते हैं ,तो देखिये और जानिए , भारत के 5 सर्वश्रेष्ठ हनीमून पर्यटक स्थल , जो कुछ इस प्रकार है :

क्या सोच रहे हो जनाब ? शादी के बन्धन में तो बंध गए और अब हनीमून के लिए नहीं सोच रहे हैं क्या ? अच्छा ! तो आपको समझ में यह नहीं आ रहा है कि कहाँ जाएँ और कहाँ नहीं ,तो लीजिए हम आपकी समस्या का समाधान चुटकियों में कर देते हैं |

 

(1) गोवा : Goa


गोवा को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है, ये तो  जोड़ों के लिए भारत में एक बहुत ही लोकप्रिय हनीमून पर्यटक स्थल है, गोवा में सुनिश्चित करना बहुत ही मुश्किल है कि जो हनीमून का आनंद लेने की अवधि होती है ,कब समाप्त होगी या नहीं  |

गोवा को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है, ये तो  जोड़ों के लिए भारत में एक बहुत ही लोकप्रिय हनीमून पर्यटक स्थल है, गोवा में सुनिश्चित करना बहुत ही मुश्किल है कि जो हनीमून का आनंद लेने की अवधि होती है ,कब समाप्त होगी या नहीं  ? यहां पर आपको देखने को मिलेगा- बाल्मि तट और शानदार पुर्तगाली  वास्तुकला ,फेनी, उदार नाइटलाइफ और कुछ मनोरंजन मसालेदार लड़ाकू विन्दलू के आग का गोला |
                                                                                                   आपके लिए हो सकता है कि गोवा एक गाँव है लेकिन इसके साथ-साथ ,आप देखेंगे तट के पास से होता हुआ, सूर्य उगता हुए अपनी रोशनी से खेलते हुए आपको आनंद की अनुभूति कराता रहेगा और जो लोग इश्क और मोहब्बत के बन्धनों में बंधे रहते हैं उनके लिए गोवा बहुत ही बेहतरीन जगह है, आप दोनों के जीवन के खुशियों के लिए भी यह स्थान बहुत ही अद्भुत है |

(2)  अण्डमान (नील द्वीप): Andamans (Neil Island)


अण्डमान को पर्यटन स्थल की सूची में सबसे शीर्ष पर होना चाहिए,क्योंकि यहां के समुद्र तट का नजारा स्वर्ग जैसा है और इसके जैसा नजारा बहुत ही कम जगह पर आपको देखने को मिलेगा ,नहीं तो नहीं मिलेगा |आप देखेंगे कि यहां के समुद्र तट का नजारा ही कुछ ऐसा है |
   
 अण्डमान को पर्यटन स्थल की सूची में सबसे शीर्ष पर होना चाहिए,क्योंकि यहां के समुद्र तट का नजारा स्वर्ग जैसा है और इसके जैसा नजारा बहुत ही कम जगह पर आपको देखने को मिलेगा ,नहीं तो नहीं मिलेगा |आप देखेंगे कि यहां के समुद्र तट का नजारा ही कुछ ऐसा है , आपको यहां पर सूर्य देवता समुद्र तट का चुम्बन करते हुए आपको दिखेंगे | इतिहास का डैश और विश्वस्तरीय जल के खेल अण्डमान को, जो भी यहां पर हनीमून के लिए आते हैं ,उनके आदर्श जगह के रूप में इसे स्थापित कर देते देते हैं |
                                                                           आपको एक बात बताना चाहेंगे ,क्या आपको थाईलैंड, मालदीव ,मॉरीशस जाने की आवश्यकता नहीं है, जब आप लाइट हाउस के चमक को पकड़ने के लिए अपनी खिड़की से बाहर देख सकते हैं, पड़ोसी द्वीपों पर बिखेरे या एशिया के सबसे अच्छे समुद्र तटों के सफेद रेत पर चले तो आपको अलग ही अनुभव होगा | यह एक  यादों का पिटारा जोड़ों के लिए प्रदान करता है ,आपकी यात्रा का सबसे यादगार लम्हा बनाने में सहायक सिद्ध होता है, तो आइए आप लोग यहाँ की सुंदरता की  खूबसूरती को हृदय में स्थापित कीजिए |

  • हनीमून के लिए भारत के 5 बेहतरीन पर्यटक स्थल

(3) केरल ( मुन्नर ) : Kerala (Munnar)



अब हम बात कर रहे हैं, केरल मुन्नर की | यहां पर आपको पहाड़ और झील, कॉफ़ी बागान और हाउसबोट, स्पा और मसाला सब कुछ देखने को मिलता है, हरे भरे चाय बागानों के साथ-साथ ,अगर आप चलेंगे तो आपको वहां की नमकीन हवाएं, भिगो कर रख देंगे |

अब हम बात कर रहे हैं, केरल मुन्नर की | यहां पर आपको पहाड़ और झील, कॉफ़ी बागान और हाउसबोट, स्पा और मसाला सब कुछ देखने को मिलता है, हरे भरे चाय बागानों के साथ-साथ ,अगर आप चलेंगे तो आपको वहां की नमकीन हवाएं, भिगो कर रख देंगे ,केरल की आकर्षण आपको अधिक से अधिक मोहित करते रहेंगे क्योंकि आप कभी भी यहाँ की ख़ूबसूरती को कहीं और  इतनी आसानी से प्राप्त नहीं कर सकते हैं | आप अपने दैनिक जीवन में जितने भी मसालों का उपयोग करते हैं ,उसमें से ज्यादातर यही  से उगता है |
                                                                         जिस तरह से यह आपके खान-पान में स्वाद को बढ़ाने का कार्य करता है, उसी प्रकार वहां की धरती, वहां का पर्यटन स्थल, आपके वैवाहिक जीवन को और मजबूत करने में सहायक सिद्ध होता है, बड़े ही दुःख के साथ बताना पड़ रहा है कि  साथियों, अभी हाल ही में वहां पर आई प्राकृतिक आपदा के कारण केरला के निवासियों को काफी बुरे दिनों का सामना करना पड़ा ,हां यह अलग बात है कि पूरे देश के साथ-साथ और देश के बहुत से लोगों ने किसी न किसी रूप में दान देकर  उनकी सहायता करने की पूरी कोशिश की और अब  स्थिति फिर से सही हो गई है |
                                                                        तो जब आप कभी भी अपने हनीमून के लिए अच्छे स्थानों का चुनाव कर रहे हो तो एक बार आप केरल की धरती को जरूर अपने चरणों से सुसज्जित कीजिए और वहां की हवाओं में अपनी यादों को भूल आइए, जिससे वहां से मिलने वाली खुशियां आपके जीवन को सही दिशा में जाने के लिए सर्वदा प्रेरित करते रहें, जो कि हर मनुष्य के लिए आवश्यक है |

(4) कश्मीर (गुलमर्ग): Kashmir (Gulmarg)


अब हम बात करेंगे कश्मीर गुलमर्ग के बारे में,यह भी एक बेहतरीन स्थान  है और हनीमून के जोड़ों के लिए यह भी एक बहुत बेहतरीन पर्यटक स्थल है आप समझ लीजिए  कि कश्मीर हनीमून के लिए सही जगह है | प्राचीन सफेद बर्फ और ठंड के मौसम में मजा आता है |
 
अब हम बात करेंगे कश्मीर गुलमर्ग के बारे में,यह भी एक बेहतरीन स्थान  है और हनीमून के जोड़ों के लिए यह भी एक बहुत बेहतरीन पर्यटक स्थल है आप समझ लीजिए  कि कश्मीर हनीमून के लिए सही जगह है | प्राचीन सफेद बर्फ और ठंड के मौसम में आप दोबारा आग लगने के दौरान या तो ठण्ड से बचने के लिए हीटर जलाते समय या अपने आनंद की अनुभूति के लिए थोड़ी सी आग जलाते समय उसकी आनंद की अनुभूति करने के लिए थोड़ा सा समय निकाले |

आप जंगली रेखाएं और अपने प्यार के साथ शानदार डल झील का पता लगाएं ,कश्मीर की सुंदरता सबसे अनोखी है ,धरती पर जितने भी  बेहतरीन स्थान है, कश्मीर का स्थान सबसे अलग है हालांकि इस समय भारत में और पाकिस्तान में कश्मीर के मुद्दे को लेकर के आए दिन बहुत सी घटनाएं घटती रहती है, काफी दुःख की बात है और जैसा की आप सभी जानते हैं कश्मीर को भारत का सिरमौर भी कहा जाता है, दोनों के बीच भले ही कश्मीर फंसा हुआ हो किंतु ,वहां जाने वाले प्रत्येक पर्यटकों का ,साथियों का, दर्शकों का आनंद पूरे खुले मन से करता है तो आप इस स्थान पर भी कम से कम एक बार अवश्य जाएँ |

(5) राजस्थान (उदयपुर): Rajasthan (Udaipur)


 उदयपुर की जो कि राजस्थान में स्थित है, तो पहला प्रश्न यह है कि क्या उदयपुर बॉलीवुड के रूप में अद्भुत है,प्रतिष्ठित महलों, संग्रहालयों और झुकी  झीलों ने उदयपुर को भारत में सबसे रोमांटिक स्थानों में से एक बना दिया है |

अब बात आ रही है उदयपुर की जो कि राजस्थान में स्थित है, तो पहला प्रश्न यह है कि क्या उदयपुर बॉलीवुड के रूप में अद्भुत है, क्या यह इस बात का दावा करता है, इसका जवाब है हां | प्रतिष्ठित महलों, संग्रहालयों और झुकी  झीलों ने उदयपुर को भारत में सबसे रोमांटिक स्थानों में से एक बना दिया है ,आप जब भी कभी वहां की सड़कों पर चलेंगे तो वहां के संस्कृत के विविधता को आसपास महसूस करते हुए देखेंगे, आप उदयपुर में पग यात्रा कर रहे हो या झील पर नाव की सवारी कर रहे हो ,उसकी शांति में अलग ही सुकून है यह स्थान अपनी जीवन कला दृश्यों और पुरानी दुनिया के आकर्षण की प्रशंसा कर सकते हैं |
याद रखने के लिए आपको एक अनमोल पलों के लिए फिर से  वापस बुला सकते हैं, तो देर किस बात की ,आप के पास  हो सकता है समय की कमी हो, किंतु आप अपने आपको जीवन में खुश रखने के लिए, आपसी रिश्तो को सम्भालने के लिए ,व्यस्त जीवन में से थोड़े समय, थोड़े पल, अपने आपसी  रिश्तो को बनाने के लिए भी निकालना चाहिए |

                                                                                               तो ये रहे भारत के 5 बेहतरीन पर्यटक स्थल | जो भी हनीमून के लिए जाने के विचार कर रहे हैं उनके लिए यह पांच स्थान बहुत ही बेहतरीन है ,इसके बारे में थोड़े-थोड़े विचार, हमने आपसे साझा किया हैं ,विस्तार में जानने के लिए, आप जिस स्थान पर जाना चाहते हैं,उस स्थान के बारे में और पता करें, वहां के लोगों से मिले, आपको निश्चित रूप से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और अगर आपको कुछ और जानकारी चाहिए या आपको कुछ सुझाव चाहिए, तो आप हमें टिप्पणी के माध्यम से पूछ सकते हैं |


Regards,
Hints 4 You.
Thanx For giving your precious time.
We will meet again via next post.

Thursday, November 8, 2018

Top 10 Tourist Place In Uttar Pradesh You Must Visit It.

Top 10 Places to Visit in Uttar Pradesh, India

Uttar Pradesh bahut pahle se hi desh ka aitihasik, sthapatya aur dharmik kendra raha hai. Rajya  bhar mein, mahanagari shaharon aur pracheen kasbon ka ek bada hissa hai jo prem, bahaduree, adhyatmikta aur mahima ki kahaniyon ka dava karate hain.

 Uttar Pradesh bahut pahle se hi desh ka aitihasik, sthapatya aur dharmik kendra raha hai. Rajya  bhar mein, mahanagari shaharon aur pracheen kasbon ka ek bada hissa hai jo prem, bahaduree, adhyatmikta aur mahima ki kahaniyon ka dava karate hain. tajmahal shahar se duniya ke sabase puraane lagatar rahane vale shaharon mein gina jata hai, aaaj mai apko aise hi 10 jagah ke baren me bataunga jahan apko jarur jana chahiye , To Der kis baat ki chaliye aage badhte hai.
 Neeche diye gaye sabhi sthano ko kisi kram me nahi rakha gaya hai ,koi prayikta nahi di gayi hai.Aap apni pasand ke anusar age badh sakte hai aur sabhi sthano ko dekh sakte hai.

(1) Agra :

              Jise aamtaur par taaj sitee kaha jaata hai, desh ka sabase mulyavan shahar hai, jo pratishthit tajamahal dvaara manyata prapt hai - mugal samraat shahajahan dvara nirmit ek atyadhik sundar makbara apani patni mumataj ki yad mein. 

Yah yoonesko vishva dharohar sthal (aur pyaar ka pratik bhi) agra jaane ke lie paryapt karan hai. Is shanadar sundar makbare ke Aakarshan ke alava, shahar do aur yoonesko ke vishva dharohar sthalon ka ghar hai - Solhavin shatabdi agra kila aur phatehapur seekari, jo ki ullekhneey hain.

 Jise aamtaur par taaj sitee kaha jaata hai, desh ka sabase mulyavan shahar hai, jo pratishthit tajamahal dvaara manyata prapt hai - mugal samraat shahajahan dvara nirmit ek atyadhik sundar makbara apani patni mumataj ki yad mein.

(2) Sarnath :

                   Sarnath ,bharat mein sabse mahatvapoorn bauddh sthalon mein se ek hai, jahan bhagavan buddh ne apna pahala updesh diya tha. tisree shatabdi isa poorv ke dauraan, shahar samraat ashok dvara vistarit kiya gaya tha, aur kai mathon aur stoopon ka nirmaan kiya gaya tha, jisane ise bauddh bhakton ke beech ek lokapriy sthaan bana diya. 

har saal, buddh poornima (april / may mein buddh ka janmadin) ke dauraan, duniya bhar ke logon ki bheed utsav mein bhaag lene ke lie yahan aatee hai.

 Sarnath ,bharat mein sabse mahatvapoorn bauddh sthalon mein se ek hai, jahan bhagavan buddh ne apna pahala updesh diya tha. tisree shatabdi isa poorv ke dauraan, shahar samraat ashok dvara vistarit kiya gaya tha.

(3) Kanpur :

           Ganga nadi ke kinare sthit, kanapur apne hi adhikaar mein ek sundar shahar hai, jo dharmik aur aitihasik sthalon se bhara hua hai. kanapur gardan, elan van chidiyaghar, shree radhakrshn mandir, kanapur memoriyal charch, kamala ritreet, moti jheel (jalaashay), jeke mandir aur jajamo (bhaarat mein sabase badee tainareej mein se ek) kuchh jarooree jagahon par hain.

Ganga nadi ke kinare sthit, kanapur apne hi adhikaar mein ek sundar shahar hai, jo dharmik aur aitihasik sthalon se bhara hua hai. kanapur gardan, elan van chidiyaghar, shree radhakrshn mandir, kanapur memoriyal charch and more.

(4)Varanasi :

                 Pavitra ganga nadi ke tat par sthit, varanasi duniya ke sabse purane lagatar rahne vale shaharon mein se ek hai. sadiyon se, sanskriti, dharm, itihaas, kala aur shiksha yahan badhi hai, aur yah vahi hai jo ise desh ke sabase jyada dekhe jaane vale shaharon mein se ek banata hai. yah pavitra sthaan bhagavan shiv se juda hua hai, aur yah hinduon ke lie sabse pavitra sthaan hai. duniya bhar ke log nirvan praapt karane aur bhagvan ke ashirvad mangane ke lie yahan aate hain.

 Pavitra ganga nadi ke tat par sthit, varanasi duniya ke sabse purane lagatar rahne vale shaharon mein se ek hai. sadiyon se, sanskriti, dharm, itihaas, kala aur shiksha yahan badhi hai, aur yah vahi hai jo ise desh ke sabase jyada log pasand karte hai.

                                                                                             Ganga arati (pooja ki hindu anushthaan) mein bhaag lena jarooree hai, saath hi ganga nadi mein dubkee lena, jo mana jaata hai ki apake sabhee papon ko dhona aur moksh ke kareeb ek kadam lena hai. agantuk bas kaee ghaaton mein se ek par baith sakate hain aur logon ko jeevan ke vibhinn kshetron se dekh sakate hain; ya ghaton ke kinaare ek naav ki savaaree len (ghaton kee or badhane vaale kadamon ki udanen). shaanti aur adhyatmik anubhav ke kshano ke lie, bhagvaan ke shahar ki tulna mein koi behatar jagah nahin hai.

(5) Jhansi :

         18 veen shatabdi ki ranee ki bahaduree aur bahaaduree ka paryaay ban gaya hai, raanee lakshmi bai, jise jhansee ki rani bhi kaha jaata hai. ismen mandir, kile aur charch ek poorv yug kee yaad dilaate hain, aur inmen se ek tahalane ek utthanakaree sambandh hai jo aapako chhedchhaad kar dega. jhaansee kila, raanee mahal aur sarakaaree sangrahaalay vishesh roop se ullekhaneey hain.

18 veen shatabdi ki ranee ki bahaduree aur bahaaduree ka paryaay ban gaya hai, raanee lakshmi bai, jise jhansee ki rani bhi kaha jaata hai. ismen mandir, kile aur charch ek poorv yug kee yaad dilaate hain.

(6) Lucknow :

              Uttar pradesh ki rajdhani, lucknow ek sundar aitihasik shahar hai jo kai yatra gaidon mein shayad hi ullekh karata hai. chahe aap ek itihaas baph, sanskrti giddh, vanyajeevan eksaplorar ya ek khaady sangyey hain, navaabon ki bhoomi mein har kisi ke lie kuchh hai. aap ki prateeksha kar rahe mugal khandahar 17 veen aur 18 veen shataabdiyon, jaise baara imambaara, chota imambara aur rumee daravaaja ke saath daiting kar rahe hain; 

1 9veen shatabdi  ki shuruaat mein dilakusha kothee angreji barok vastukala, halachal vale hajarataganj, aur kai sanskrtik aur prakrtik sthaanon mein banaaya gaya tha. yad nahin kiya jaana chaahie isake ameer avadhee vyanjan - aapako nishchit roop se kabaab (tunde, talaash aur gailautee) aur lakhanoo birayaanee (chaaval, masaale aur masaaledaar chikan ka sanyojan) ka prayaas karana chaahie.

 Uttar pradesh ki rajdhani, lucknow ek sundar aitihasik shahar hai jo kai yatra gaidon mein shayad hi ullekh karata hai. chahe aap ek itihaas baph, sanskrti giddh, vanyajeevan eksaplorar ya ek khaady sangyey hain.

(7) Mathura :

                 Mathura hindoo bhagavaan, krshna ka janmasthaan aur hindoo dharm ke saat pavitr shaharon mein se ek hai. shahar sadiyon se deting mandiron se bhara hai. vishesh roop se shreekrshn janma bhoomi, dvaarakaadhish mandir aur geeta mandir hain. isake alaava, pavitr yamuna nadee is shahar se bahatee hai aur 25+ ghaaton ke saath bikharee huee hai, jisamen se vishnam ghaat ko sabase pavitr maana jaata hai. har saal.

  hajaaron bhakt aasheervaad aur aadhyaatmik anubhav kee talaash karane ke lie in mandiron aur ghaaton par jaate hain, khaasakar holee (pharavaree / maarch) aur janmaashtamee (agast / sitambar mein bhagavaan kirana ka janmadin) ke dauraan. praacheen mandiron kee prshthabhoomi ke khilaaph set ghaaton ke paas bhakti ke drshy nishchit roop se duniya mein sabase aashcharyajanak mein se ek hain.

 Mathura hindoo bhagavaan, krshna ka janmasthaan aur hindoo dharm ke saat pavitr shaharon mein se ek hai. shahar sadiyon se deting mandiron se bhara hai. vishesh roop se shreekrshn janma bhoomi, dvaarakaadhish mandir aur geeta mandir hain.

(8) Vrindavan :

                Yadi ap ek mandir premee hain, to vrindavan ek yatra hai. mathura se sirph 15 kilomeetar (9.3 meel) door sthit, yah bhagavaan krshn aur unake premee raadha ko samarpit ek aur pavitr peechhe hatana hai. yah vah jagah hai jahaan krshn ne apane bachapan ke varshon bitae the. is viraasat shahar mein jatil vastukala aur nakkashee ke saath lagbhag 5,000 mandir hain jo krshn aur raadha ke divy prem ko pradarshit karate hain. ullekhaneey kuchh logon mein banke bihaaree mandir, krshna balaraam mandir, prem mandir aur raadha raman mandir shaamil hain.

  Yadi ap ek mandir premee hain, to vrindavan ek yatra hai. mathura se sirph 15 kilomeetar (9.3 meel) door sthit, yah bhagavaan krshn aur unake premee raadha ko samarpit ek aur pavitr peechhe hatana hai.

(9) Ayodhya :

             Bhagavan raam ka janmsthan, ayodhya hinduon ke lie saat pavitr sthanon mein se ek hai. lagbhag har kone par mandiron ke saath, ayodhya ek adhyatmik sadhak ka svarg hai. raamakot shahar mein pooja ka mukhy kendr hai jo duniya bhar se bhakton ko aakarshit karata hai. yaatra ke yogy any mahatvapoorn mandiron mein nageshvaranath mandir, hanumaan gadhee, treta ke thakur, kanak bhavan aur raam janmbhoomi mandir shamil hain. Faizabad mein bahoo begam ke mandiron, motee mahal aur makabare se door (ayodhya se kuchh kilomeetar door) unake shaanadaar mugal vaastukala aur bhavyata ke lie ek yaatra ke laayak hain.

  Bhagavan raam ka janmsthan, ayodhya hinduon ke lie saat pavitr sthanon mein se ek hai. lagbhag har kone par mandiron ke saath, ayodhya ek adhyatmik sadhak ka svarg hai.

(10) Prayagraj (Allahabad ) :

                                 Monikar sangam sitee ilahabad ke lie upyukt hai kyonki yah bharat mein yamuna, ganga aur sarasvatee nadiyon ka meeting pvaint hai. kumbh mela aur aitihasik sthalon ke lie jana jata hai, Praygraj vaidik kaal se sambandhit desh ka doosra sabse purana shahar hai. shahar mugal vastukala aur british yug ki imaraton aur sanrachanaon se ghira hua hai, jo vaastukala aur itihaas ke lie ek pravrtti vaale logon ke lie ek jarooree yaatra karata hai. Pragraj kila, khusaro baag, svaraaj bhavan, trivenee sangam, aanand bhavan aur sabhee sant kaithedral vishesh halat hain.

  Monikar sangam sitee ilahabad ke lie upyukt hai kyonki yah bharat mein yamuna, ganga aur sarasvatee nadiyon ka meeting pvaint hai. kumbh mela aur aitihasik sthalon ke lie jana jata hai.

(*Image Courtesy: Google )

Regards,
Hints 4 You.
Thanx For giving your precious time.
We will meet again via next post.